June 23, 2024 1:54 am

फॉलो करें

त्रिकोणीय मुकाबले में फंसी कोडरमा लोकसभा सीट, भाजपा की अन्नपूर्णा देवी, ‘इंडिया’ के विनोद सिंह और निर्दलीय जयप्रकाश वर्मा के बीच जंग

रांची : कोडरमा लोकसभा
सीट पर चुनावी समीकरण पांच
वर्ष पहले की तुलना में काफी
बदल गये हैं। भाजपा की
अन्नपूर्णा देवी को जीत बरकरार
रखने के लिए ज्यादा जोर लगाना
पड़ रहा है। क्योंकि, इंडिया
गठबंधन की चुनौती भी बढ़ती
जा रही है। चुनाव विश्लेषकों का
मानना है कि भाजपा और इंडिया
गठबंधन के बीच लड़ाई को
निर्दलीय जयप्रकाश वर्मा के
त्रिकोणीय बनाने से भाजपा को
अधिक नुकसान उठाना पड़ रहा
है।
वर्ष 2019 में 04 लाख 50
हजार वोटों से जीती थीं
अन्नपूर्णा देवी
केंद्रीय मंत्री और वर्तमान
सांसद अन्नपूर्णा देवी कोडरमा
लोकसभा सीट से दूसरी बार
चुनाव लड़ रही हैं। साल 2019
में राजद से भाजपा में शामिल
हुईं अन्नपूर्णा देवी ने तब झाविमो
प्रत्याशी बाबूलाल मरांडी को 04
लाख 50 हजार वोटों से पराजित
किया था। विधानसभावार स्थिति
का आकलन करें तो गांडेय
विधानसभा क्षेत्र से अभी हो रहे
उप चुनाव में कल्पना सोरेन
चुनाव लड़ रही हैं, जिसका
प्रभाव लोकसभा चुनाव पर भी
दिखेगा।
यहां से भाजपा विधायक रह
चुके जयप्रकाश वर्मा ने पिछली
बार अन्नपूर्णा देवी के लिए वोट
मांगे थे लेकिन इसबार वे खुद
लोकसभा चुनाव में निर्दलीय
प्रत्याशी हैं। बगोदर विधायक
विनोद सिंह इंडिया गठबंधन के
प्रत्याशी हैं तो बगोदर में उनकी
मजबूती स्वाभाविक है। धनवार
विधानसभा क्षेत्र में भी भाकपा
माले की मजबूत पकड़ रही है।
झामुमो और अन्य दलों के साथ
से यह पकड़ और मजबूत हो
गयी है। जमुआ में भाजपा
प्रत्याशी अन्नपूर्णा देवी, भाकपा
माले के विनोद सिंह और
निर्दलीय जयप्रकाश वर्मा तीनों
की मजबूत पकड़ दिखती है।
बरकट्ठा विधानसभा क्षेत्र में
पिछली बार 2019 में तत्कालीन
विधायक जानकी यादव और
वर्तमान विधायक अमित यादव
दोनों ने भाजपा के लिए वोट मांगे
थे और यहां भाजपा को बड़ी
बढ़त दिलायी थी लेकिन जानकी
यादव कुछ दिन पहले ही भाजपा
को छोड़कर झामुमो में शामिल
हो चुके हैं। अब बात करें
कोडरमा विधानसभा क्षेत्र की तो
स्वाभाविक रूप से भाजपा यहां
आंकड़ों में मजबूत दिखती है।
यहां से भाजपा की डॉ नीरा
यादव विधायक हैं। पिछले
लोकसभा चुनाव में जिला परिषद
की अध्यक्ष रहीं शालिनी गुप्ता ने
भी भाजपा के लिए वोट मांगे थे।
इस बार आजसू में होते हुए भी
वह भाजपा के पक्ष में नहीं दिख
रही हैं। इन सारी बातों के बीच अन्नपूर्णा के साथ ‘मोदी की गारंटी’ वाला धारदार हथियार है जो इस चुनावी समर में उनको बढ़त दिला सकता है। बिरनी में मोदी की चुनावी यात्रा में इसका प्रमाण मिल भी चुका है।

Share this post:

Leave a Comment

खबरें और भी हैं...

लाइव क्रिकट स्कोर

कोरोना अपडेट

Weather Data Source: Wetter Indien 7 tage

राशिफल