June 16, 2024 12:14 pm

फॉलो करें

भाजपा ने चलाए तीर, तनिक भी विचलित नहीं है झारखंड मुक्ति मोर्चा के “कर्मवीर”

संतोष पाठक /रांची।

लोकसभा चुनाव की गहमा गहमी के बीच भाजपा और झारखंड मुक्ति मोर्चा के बीच जारी आरोप प्रत्यारोप का खेल जारी है, इन आरोपों में सच्चाई कितनी है यह तो भविष्य के गर्त में है। मगर इतना है की जन मानस में इन आरोपों को संजीदगी से नहीं लिया जा रहा है और लोग चटकारे लगाकर खूब कहा_सुनी कर अपना और मित्रों का मंनोरंजन जरूर कर रहें हैं।

मुझे टारगेट किया जा रहा, कभी सफल नहीं होंगे : सुप्रियो भट्टाचार्य

झारखंड मुक्ति मोर्चा के महासचिव महासचिव सह वरिष्ठ प्रवक्ता सुप्रियो भट्टाचार्य भाजपा प्रवक्ता प्रतुल शाहदेव द्वारा अपने ऊपर आरोप लगाए जाने पर कहा है कि सुप्रियो भट्टाचार्य का जीवन सार्वजनिक है। धोखा और गद्दारी मेरे चरित्र में कहीं भी शामिल नहीं है। लोग अपनी समस्या लेकर आते रहते हैं। मोबाइल और व्हाट्सएप के माध्यम से अपनी बात कहते हैं। दिन भर में मैसेज इतने आते हैं की सभी मैसेज को देख पाना भी संभव नहीं है। उन्होंने कहा कि भाजपा ऐंड कंपनी द्वारा मुझे अगला टारगेट बनाया जा रहा है। इन्होंने पहले भी इन्होंने काफी प्रयास किया है, जब कुछ नहीं मिला
तो अब व्हाट्सएप की चैटिंग दिखा रहे हैं। उनको बताना चाहिए की जिस चैटिंग में जो ट्रांसफर पोंिस्टग का रिक्वेस्ट किया गया है, क्या वह पोंिस्टग हुई है। जो चैट दिखाई जा रहा है और कहा जा रहा है कि वहकोर्ट में जमा की गई है तो, क्या उसकी सर्टिफाइड कॉपी कोड से
प्राप्त की गई है। ये लोग मिथ्या प्रचार करके उनके धवल चेहरे पर कालिख
पोतने की कोशिश कर रहे हैं। वे इसमें कभी सफल नहीं होंगे। मुझे अपने नेता को बचाने के लिए होटवार जेल भी जाना पड़ेगा तो मुझे कहीं भी संकोच नहीं है। लेकिन मैं इनका पीछा में जेल से भी
नहीं छोड़ने वाला।

क्या कहती है भाजपा, क्या हैं आरोप

भाजपा के प्रदेश प्रवक्ता प्रतुल शाह देव ने आज मारू टावर स्थित मीडिया सेंटर में झारखंड मुक्ति मोर्चा पर बड़ा हमला बोलते हुए कहा कि झारखंड मुक्ति मोर्चा का हाथ जमीन दलालों के साथ है। प्रतुल ने कहा कि झारखंड मुक्ति मोर्चा के महासचिव सुप्रिया भट्टाचार्य और अंतू तिर्की के बीच का व्हाट्सएप चैट से बहुत चौंकाने वाले तथ्य सामने आए हैं। इस चैट से स्पष्ट है कि अंतू तिर्की जो जमीन की गोरख धंधे में लिप्त था,वह सुप्रियो भट्टाचार्य से डीसीएलआर, खूँटी के पद पर कार्यरत प्रवीण मुंडा की पोंिस्टग रांची में जिला लैंड एक्विजिशन अफसर के रूप में करने की पैरवी कर रहा था। दलालों को यह भी पता था की फाइल सीएम हाउस तक पहुंच गई है।प्रतुल ने कहा कि सीएम हाउस के भीतर की बातें कैसे लीक हो गई और
सुप्रियो भट्टाचार्य ने अंतू तिर्की के द्वारा इस बात को बताने पर एफआईआर क्यों नहीं किया? क्या यह आॅफिसियल सीक्रेट एक्ट एवम गोपनीयता का उल्लंघन नहीं है? प्रतुल ने कहा कि दस्तावेजों से स्पष्ट है कि कमीशन लेकर अंतू तिर्की अफसरों की ट्रांसफर पोंिस्टग कराता था। प्रतुल ने कहा कि झारखंड मुक्ति मोर्चा को महिला मोर्चा, युवा मोर्चा के तर्ज पर एक’ट्रांसफर
पोंिस्टग मोर्चा’ भी खोल
लेना चाहिए।प्रतुल ने कहा कि सुप्रिया भट्टाचार्य ने गलत बयानी कर के हेमंत सोरेन का कई बार बचाव किया। नवीनतम बचाव था जब हेमंत सोरेन के दिल्ली वाले घर से 36 लाख रुपए बरामद गए थे। उस समय सुप्रिया भट्टाचार्य ने कहा था कि यह पैसा ईडी ने प्लांट किया है। बाद में हेमंत ने उच्च न्यायालय में अपनी याचिका में स्पष्ट किया किया पैसा उन्हें पार्टी फंड से माता-पिता के इलाज के लिए मिला था।प्रतुल ने कहा कि अब आज
सुप्रियो भट्टाचार्य को गलत बयानियों का दौर छोड़कर सच्चाई बतानी चाहिए। प्रेस वार्ता में सह मीडिया प्रभारी अशोक बड़ाइक एवं तारिक इमरान भी मौजुद थे।

Share this post:

Leave a Comment

खबरें और भी हैं...

लाइव क्रिकट स्कोर

कोरोना अपडेट

Weather Data Source: Wetter Indien 7 tage

राशिफल